Youtube Ki Kamyabi Ki Kahani, Youtube Duniya Ki Safal Website Kaise Bani

Youtube Ki Kamyabi Ki Kahani, Youtube Duniya Ki Safal Website Kaise Bani


नमस्कार आपका स्वागत है हिंदी में सेवा ब्लॉग पर आज की इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं youtube.com साइट के बारे में दोस्तों आप सभी यूट्यूब को तो जानते ही होंगे वह दुनिया की सबसे सफल वेबसाइट ओं में से एक है यूट्यूब गूगल की ही दूसरी वेबसाइट है और आज की तारीख में दुनिया में सबसे पहली वेबसाइट गूगल है और उसके बाद यूट्यूब का नाम आता है लेकिन क्या दोस्तों आप यूट्यूब की सफलता और इसकी पूरी कहानी के बारे में जानते हैं यदि आपको यूट्यूब की सफलता की कहानी के बारे में नहीं पता है तो आज की इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं यूट्यूब की कामयाबी की कहानी और यूट्यूब दुनिया की सफल वेबसाइट कैसे बनी है.
Youtube Ki Kamyabi Ki Kahani, Youtube Duniya Ki Safal Website Kaise Bani, youtube success stories

youtube success stories


यूट्यूब पर हर दिन हजारों की तादात में वीडियो अपलोड होते हैं और करोड़ों की तादात में उस पर व्यूज आते हैं आप में से बहुत से ऐसे लोग होंगे जिन्होंने यूट्यूब पर अपना चैनल बनाया होगा और आप भी यूट्यूब पर अपने खुद के बनाए हुए वीडियो अपलोड करके पैसा कमाते होंगे लेकिन कभी दोस्तों आपने यह जानने की कोशिश की है कि यूट्यूब की शुरुआत कब हुई थी और इस पर सबसे पहले कौन सा वीडियो अपलोड किया गया था शायद मुझे लगता है की आपको यह जानकारी ना हो लेकिन आपको आज में यह सारी जानकारियां देने वाला हूं कि यूट्यूब पर सबसे पहले कौन सा वीडियो अपलोड हुआ उस पर कितने व्यूज आए और यूट्यूब की शुरुआत कैसे हुई इन सारी बातों पर आज हम विस्तार से बात करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं.

YouTube Kya Hai

दोस्तों हम सबसे पहले बात कर लेंगे की यूट्यूब क्या है तो हम आपको बता दें यूट्यूब दुनिया की सबसे बड़ी Video Sharing Platform है यूट्यूब पर हर दिन हजारों की तादात में वीडियो अपलोड होते हैं और करोड़ों की तादात में उस पर व्यूज आते हैं दोस्तों यूट्यूब एक सोशल नेटवर्किंग है और इस पर आप वीडियो अपलोड करके दूसरों को कोई भी जानकारी दे सकते हैं और आज की तारीख में यूट्यूब पर आपको हर जानकारी मिल जाएगी जो आप जानना चाहते हैं.

यूट्यूब पर हर जानकारी के कई वीडियो आपको मिल जाएंगे आप चाहें कोई भी जानकारी हो आपको वो यूट्यूब पर मिल जाएगी क्योंकि यूट्यूब पर हमारे जैसे लोग अपना चैनल बनाकर उस पर वीडियो अपलोड करते हैं और अपने टैलेंट के हिसाब से वीडियो बनाते हैं दोस्तों मैं सच में कहूं तो यूट्यूब पर जिन लोगों ने भी चैनल बनाए हैं वह सारे के सारे एक तरह से टीचर ही हैं क्योंकि वह अपने स्टूडेंट को सिखा रहे हैं जैसे कि मान लीजिए अभी कोई मोबाइल के बारे में वीडियो है तो जिसने यह वीडियो बनाया है उसके पास वह सारी जानकारी है मोबाइल के बारे में लेकिन जो देखना चाहता है उसके पास तो नहीं है तो उस वीडियो को देखकर वह सीख सकता है.

ऐसे में हर कोई जो यूट्यूब पर अपना चैनल बनाया है वह एक तरह से अध्यापक है और वह अपने विद्यार्थियों को सिखा रहा है और अब तो दोस्तों जो सच में टीचर होते हैं जो विद्यार्थियों को सिखाते हैं वह भी यूट्यूब पर अपने वीडियो अपलोड करके सिखाते हैं आप यदि अभी पढ़ाई कर रहे हैं और आपको कोई सवाल समझ में नहीं आ रहा है तो आप उसे यूट्यूब पर सर्च करेंगे तो उसके रिलेटेड आपको वीडियो मिल जाएगा और उस वीडियो को देखकर आप भी सीख सकते हैं.

यूट्यूब की शुरुआत कब हुई है

दोस्तों आप की यह जानने की बड़ी इच्छा होगी कि यूट्यूब की शुरुआत कब हुई इसे किसने शुरू किया फिर इस पर कैसे वीडियो अपलोड हुए तो चलिए हम आपको बता देते हैं तो यूट्यूब की शुरुआत वर्ष 2005 में PayPal कंपनी के 3 वर्कर ने मिलकर इसकी शुरुआत की थी जिनके नाम आपको नीचे दिए हुए हैं.



दोस्तों अब आपके मन में यह सवाल जरूर होगा की यूट्यूब का आइडिया कैसे आया तो चले हम आपको बता देते हैं इसके लिए दोस्तों दो मान्यताएं मानी जाती है पहला अगर हम मीडिया की मानें तो यूट्यूब का concept 2005 के शुरुआती दिनों में आया था जब स्टीव चेन के अपार्टमेंट में डिनर पार्टी हुई थी और जावेद करीम उस पार्टी में नहीं थे जबकि वह वीडियो देख कर उस पार्टी का मजा लेना चाहते थे लेकिन उस समय वीडियो शेयर करने में प्रॉब्लम आ रही थी और लंबा वीडियो शेयर नहीं हो पा रहा था.

स्टीव चेन इसी प्रॉब्लम को सॉल्व करने के लिए फिर उन्होंने सोचा कि एक वीडियो शेयरिंग वेबसाइट बनाया जाए जहां पर हम आसानी से कितना भी लबा वीडियो को शेयर कर सकते हैं और हम अगर दूसरी तरफ जावेद करीम की बात माने तो वर्ष 2004 में यह आईडिया आया था तब हिंद महासागर में आई सुनामी के वीडियो क्लिप को ऑनलाइन देखना चाहते थे लेकिन वे नहीं देख पा रहे थे.

जावेद करीम का कहना है कि फिर हम तीनो ने मिलकर वीडियो शेयरिंग वेबसाइट को बनाने के बारे में सोचा और हमने 14 फरवरी 2005 को यूट्यूब नाम से डोमेन रजिस्टर करवाया फिर अप्रैल को जावेद करीम ने अपना पहला यूट्यूब वीडियो अपलोड किया

दोस्तों जावेद करीब कि हम माने तो यूट्यूब पर सबसे पहला वीडियो 23 अप्रैल 2005 को अपलोड किया गया था तब यह वीडियो san diego चिड़ियाघर में शूट किया गया था इस वीडियो को दोस्तों आप भी यूट्यूब पर देख सकते हैं जिसकी लिंक हमने आपको नीचे दे दी है.


इन तीनों ने जब नवंबर 2005 को यह आइडिया इन्वेस्टर को सामने रखा तो यूट्यूब का आईडिया उन्हें काफी पसंद आया और उन्होंने 11.5 मिलीयन की फंडिंग raise कर ली और यूट्यूब का सबसे पहले ऑफिस San Mateo, California में एक जापानी रेस्टोरेंट में था.

Google ने यूट्यूब को 1.65 मिलीयन में खरीदा

यूट्यूब को अब 1 साल का समय हो चुका था और नवंबर के 2006 में आ गए थे तब यूट्यूब की लोकप्रियता काफी बढ़ गई थी और उस समय में यूट्यूब पर दिन में ही लाखों में व्यूज आ जाते थे फिर यह गूगल को भी पता चला कि यूट्यूब काफी तेजी से लोकप्रिय हो रहा है और वह आगे चलकर गूगल को नुकसान पहुंचा सकता है फिर गूगल ने यूट्यूब को 13 नवंबर 2006 को 1.65 मिलीयन में खरीदा लिया लेकिन उस समय काफी लोगों का यह मानना था कि गूगल ने यह बड़ी गलती कर दी है और इतने पैसे देकर यूट्यूब को खरीदने से गूगल को काफी नुकसान हो सकता है.

2006 के समय में जब गूगल ने यूट्यूब को खरीद लिया था तब हर कोई कह रहा था कि यूट्यूब को गूगल ने खरीद कर अपने पैसे गवा दिए है लेकिन थोड़े ही समय के बाद यूट्यूब की लोकप्रियता और बढ़ने लगी फिर गूगल ने आम जनता के लिए यूट्यूब पर काम करने के लिए उन्हें पैसे देने लगा फिर धीरे-धीरे यूट्यूब की लोकप्रियता और बढ़ गई और फिर विज्ञापन देने वाली कंपनियों को भी यह लगने लगा कि हमें अपने विज्ञापन यूट्यूब पर देने चाहिए इससे उन कंपनियों को भी अच्छा फायदा हो सकता है.

गूगल ने फिर अपने गूगल ऐडसेंस के जरिए यूट्यूब पर विज्ञापन देना शुरू कर दिया और आम जनता भी उस पर अपना चैनल बनाकर खुद के वीडियो अपलोड करके पैसा कमा सकती थी इससे गूगल को काफी फायदा होने लगा क्योंकि जो यूट्यूब पर विज्ञापन आ रहे हैं उसमें से कुछ प्रतिशत वह अपने पास रख लेता है और बाकी का जिसने उस पर चैनल बनाया है उसे दे देता है.

दोस्तों आज के समय में यूट्यूब दुनिया की दूसरी सबसे सफल वेबसाइट है जो पहले नंबर पर आती है वह गूगल ही है और दूसरे नंबर पर यूट्यूब का नंबर आता है यूट्यूब गूगल के बाद ही सबसे बड़ा सर्च करने वाली वेबसाइट है और आए दिन लोग यूट्यूब पर सवाल सर्च करते रहते हैं और उन्हें उनके जवाब भी यूट्यूब पर मिल जाते हैं



आप भी अपना यूट्यूब पर खुद का चैनल बनाकर वीडियो अपलोड करके पैसे कमा सकते हैं यदि आपके पास यूट्यूब पर चैनल कैसे बनाते हैं उसकी जानकारी नहीं है तो आपको हमारी यह पोस्ट भी जरूर पढ़नी चाहिए


दोस्तों हमारे पास जो भी यूट्यूब के बारे में जानकारी थी उसके बारे में हमने आपको बताया है यदि कोई जानकारी हमसे यहां पर गलत दी गई हो तो आप उसके बारे में हमें कमेंट में बता सकते हैं उसे हम सुधार लेंगे यदि आपके पास भी यूट्यूब से रिलेटेड कोई और जानकारी है तो आप उसे भी कमेंट में शेयर कर सकते हैं आखिर में दोस्तों अब यही कहना चाहूंगा आप इसी तरह के पोस्ट पढ़ना चाहते हैं तो आप hindimeseva.com के साथ जुड़े रहिए

No comments:

Post a Comment